न‍ित‍िन गडकरी बोले – मैंने पहले ही कहा था क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी संभव है

न‍ित‍िन गडकरी बोले – मैंने पहले ही कहा था क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी संभव है
Maharashtra सियासी उलटफेर कर BJP के सत्‍ता में
आने के बाद पार्टी के नेताओं के बयानों का दौर जारी है। महाराष्‍ट्र BJP के दिग्‍गज नेता और केंद्रीय मंत्री न‍ित‍िन गडकरी ने शनिवार को कहा कि उन्होंने पहले ही कहा था कि क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी संभव है और अब लोग उनके कहने का मतलब समझ गए होंगे। उधर, BJP ने इस पूरे मामले में आक्रामक रुख अपना रखा है और पूरे घटनाक्रम के लिए शिवसेना को जिम्‍मेदार ठहराया है।
गडकरी ने एक कार्यक्रम में कहा, ‘मैंने पहले ही कहा था कि क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी संभव है। अब आप समझ सकते हैं कि मेरे कहने का क्‍या मतलब था।’ इससे पहले  Devendra Fadnavisने भी शपथ लेने के बाद Shiv Sena पर निशाना साधा था। फडणवीस ने कहा कि राज्‍य को खिचड़ी सरकार की जरूरत नहीं थी। Shiv Sena ने जनादेश का अपमान किया, इसलिए हमें यह कदम उठाना पड़ा।
बताया जा रहा है कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने BJP-NCP की सरकार को बहुमत साबित करने के लिए 30 नवंबर तक का वक्त दिया है। उधर, अजित पवार ने शपथ लेने के बाद कहा कि महाराष्‍ट्र में किसानों की समस्‍या हमारी प्राथमिकता है। Ajit Pawar ने कहा कि चुनाव परिणाम के दिन से ही कोई भी पार्टी सरकार बनाने की स्थिति में नहीं थी। Maharashtra कई समस्‍याओं का सामना कर रहा है, जिसमें किसानों का मुद्दा शामिल है। इसलिए हमने एक स्थिर सरकार बनाने का फैसला किया।
इस बीच NCP Chief Sharad Pawar ने कहा है कि राज्य में नवनियुक्त सरकार का एनसीपी को समर्थन नहीं है। उन्होंने दो टूक कहा कि बीजेपी सरकार के साथ सिर्फ Ajit Pawar गए हैं, NCP  नहीं। उन्होंने कहा कि उनके पास अब भी विधायकों की पर्याप्त संख्या है और हमारे (शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस) गठबंधन की सरकार बनेगी। उन्होंने कहा कि एनसीपी विधायक दल के नेता के रूप में Ajit Pawar  के पास सभी पार्टी विधायकों का हस्ताक्षर था। इतना तय है कि विधानसभा के पटल पर Devendra Fadnavis  सरकार अपना बहुमत साबित नहीं कर सकेगी। उन्होंने कहा कि शिवसेना और एनसीपी उन विधायकों को चेतावनी भी दी जो BJP के साथ जाने का मन बना रहे हैं।
Shiv Sena  और NCP  की साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस के थोड़ी ही देर बार Congress ने मीडिया से बात की। Congress की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनैतिक सलाहकार और राज्यसभा सांसद अहमद पटेल ने मुंबई में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा, ‘जैसे ही शरद पवार दिल्ली में आए। उनके घर दो बैठकें हुईं। सबकुछ तय हो गया था। कुछ चीजें शिवसेना के साथ तय होना था बस। एक दो मुद्दों पर ज्यादा चर्चा की जरूरत थी इसलिए हम 12 बजे मिलने वाले थे। इससे पहले आज सुबह जो कांड हुआ उसकी आलोचना करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं। एनसीपी से कुछ लोग बाहर निकले, उन्होंने एक लिस्ट दे दी। जिससे यह घटना घटी।’

Nitin Gadkari said - I already said anything is possible in cricket and politics



The statements of party leaders are continuing after the BJP came to power after the Maharashtra political reversal. Maharashtra BJP veteran and Union Minister Nitin Gadkari said on Saturday that he had already said that anything is possible in cricket and politics and now people would have understood what he meant. On the other hand, the BJP has taken an aggressive stand in this matter and has blamed the Shiv Sena for the entire development.

Gadkari said in a program, "I already said that anything is possible in cricket and politics. Now you can understand what I meant to say. 'Earlier Devendra Fadnavis also targeted Shiv Sena after taking oath. Fadnavis said that the state did not need a khichdi government. Shiv Sena insulted the mandate, so we had to take this step.

It is being told that Governor Bhagat Singh Kosari has given the BJP-NCP government till November 30 to prove its majority. On the other hand, Ajit Pawar said after taking oath that the problem of farmers in Maharashtra is our priority. Ajit Pawar said that no party was in a position to form the government from the day of election results. Maharashtra is facing many problems, including the issue of farmers. So we decided to form a stable government.

Meanwhile, NCP Chief Sharad Pawar has said that NCP is not supported by the newly appointed government in the state. He bluntly said that only Ajit Pawar has gone with the BJP government and not the NCP. He said that he still has enough number of MLAs and our (Shiv Sena, NCP and Congress) coalition government will be formed. He said that as the leader of the NCP Legislature Party, Ajit Pawar had the signature of all the party MLAs. It is certain that the Devendra Fadnavis government will not be able to prove its majority on the floor of the assembly. He said that Shiv Sena and NCP also warned MLAs who are planning to go with BJP.

Shortly after the shared press conference of Shiv Sena and NCP, Congress spoke to the media. Ahmed Patel, political advisor and Rajya Sabha MP for Congress interim president Sonia Gandhi, said in a press conference in Mumbai, "As Sharad Pawar came to Delhi. There were two meetings at his house. Everything was fixed. Some things had to be settled with Shiv Sena. One or two issues needed more discussion, so we were going to meet at 12 noon. I have no words to criticize the scandal that happened earlier this morning. Some people got out of NCP, they gave a list. Which led to this incident. '

Comments