देवउठनी  एकादसी Dev Uthani Ekadashi 2019  By Madanah का  2019 हिन्दू धर्म के अनुसार  संसार  के पालनकर्ता भगवान  श्री  हरि  विष्णु चार महीने  के सोने  के बाद

DEVOTHAN  EKADSI,DEVOTHAN  EKADSI 2010,KAB HAI TULSI VIVAH, TRENDINGWIDGET, TULSI PURJA 2019,  TULSI PURJA 2019 TULSI VIVAH, TULSI VIVAH, 2019  देवउठनी एकादशी, देवोत्थान एकादशी ,देवोत्थान एकादशी  2019,  देवोत्थान एकादशी  कथा,श्री शालिग्रामजी, तुलसी विवाह ,तुलसी विवाह 2019, तुलसी विवाह कथा,तुलसी विवाह कब है

देवउठनी एकादशी Dev Uthani Ekadashi 2019 के दिन जागते  है | सारे शुभ कार्य देवउठनी एकादशी Dev Uthani Ekadashi से  शुरू  होते  हे | नामकरण, मुंडन, जनेऊ विवाह,की शुरआत हो जाती हैं |
मान्यता है कि इस दिन शाम को तुलसी विवाह आयोजन  किया जाता है भगवन विष्णु के शालिग्राम और तुलसी का विवाह किया  जाता है  तुलसी  विवाह का अर्थ है भगवान विष्णु को योग निद्रा से जगाना
पूजा विधि -
-सुबह उठकर भगवान  विष्णु का व्रत का संकल्प ले और शाम को तुलसी  के पौधे  को
आँगन में रखे और अन्य चौकी पर शालिग्राम रखे साथ ही  चौकी पर अष्‍टदल कमल बनाएं.
-तुलसी  के सामने घी का दिया लगाए
- इसके बाद गंगाजल में पुष्प डुबोकर "ऊं तुलसाय नम:" मंत्र का जाप करते हुए गंगाजल का छिड़काव दिन  पर करें.

सावधानी
-देवउठनी  एकादसी के दिन तुलसी का पत्ता न तोड़े
- देवउठनी  एकादसी के दिन चावल का प्रयोग वर्जित है
- देवउठनी  एकादसी के इस दिन घर में शांति बनाए रखे
-देवउठनी  एकादसी का  दिन बहुत पवित्र होता  है इस दिन सोने से बचे और भगवन का नाम लेते रहे निरंतर
_देवउठनी  एकादसी के दिन निंदा और झूठ नही बोलना चाहिए इससे भगवान नाराज होते

TAGS-

DEVOTHAN  EKADSI,DEVOTHAN  EKADSI 2010,KAB HAI TULSI VIVAH, TRENDINGWIDGET, TULSI PURJA 2019,  TULSI PURJA 2019
TULSI VIVAH, TULSI VIVAH, 2019  देवउठनी एकादशी, देवोत्थान एकादशी ,देवोत्थान एकादशी  2019,  देवोत्थान एकादशी  कथा,श्री शालिग्रामजी,