जीवन में खुश कैसे रहे How to be happy in life by madanah

जीवन में खुश कैसे रहे (How to be happy in life by madanah)

रहे यह आपको तय करना होगा कि हम खुश कैसे रहे इसलिए खुश रहना जरूरी है क्योंकि खुश रहती ही सबसे बड़ा सुखी व्यक्ति होता है आप एक बात कह कर लीजिए कि मुझे खुश रहने के लिए क्या करना होगा सबसे पहले व्यक्ति खुश कब होता है जब व्यक्ति बाहरी चीजों से दुखी होता है उसे कैसे दुखी होगा कोई व्यक्ति हमको तो हम दुखी होते हैं हमारी चीजों से दुखी होते हैं वह हमारे अंदर और घटित हो रहा है इसको हमें समझना होगा क्योंकि हमारे भीतर ही सुख-दुख है हम भी करेंगे तो हमें कोई भी दुखी नहीं कर सकता वह चाहे कोई सम्मान दे या ना दे कोई हमें गाली दे या ना दे कोई चीज घटे या ना घटे कोई दुख हो या ना हो उसे कोई हमें फर्क नहीं पड़ना चाहिए हमारे भीतर हमें खुश रहना चाहिए जैसे हमYou have to decide how we should be happy, so it is important to be happy, because being happy is the greatest happy person. You should say one thing that I have to do to be happy. When is the first person happy when the person How is someone unhappy with external things that will make him unhappy? We are unhappy with our things, we are unhappy with our things and he is happening in us, we have to understand this. Because if there is happiness and sorrow within us, no one can make us unhappy, no matter whether he gives any respect or not, no one abuses us or gives us any thing, no matter whether or not there is any grief or lack. Should not fall within us we should be happy like we
जीवन में खुश कैसे रहे How to be happy in life by madanah
जीवन में खुश कैसे रहे How to be happy in life by madanah
आपको बताना चाहते जैसे आप को टीचर ने बोला कि रोज आपको सुबह उठना चाहिए और दौड़ना चाहिए इससे आप खुश रहेंगे तो क्या आप गुलाम हो गए रोज आपको बोलते हैं कि आप कॉमेडी नाटक हंसी है आप बाहरी तौर पर हंसते हैं लेकिन आपको अंदर चश्मा चाहिए और खुशी यह भारी नहीं है यह भी खुशी है उसे प्रकट होना चाहिए खुशी होगी आप होंगे आप भारी भारी चीजों से खुशी होंगे या भारी दूसरे लोगों से खुश होते तो आप उसको खुश होने का मतलब है खुश होना अधिक नहीं है इसलिए आप भी तो आपकी कोई चीज आप हार या जीत से फर्क नहीं पड़ना चाहिए आप हार भी जाते हो तो उसको हाथ से नहीं होना चाहिए हाथ से मतलब नहीं होना चाहिए इसलिए आप हंसे और जीते भी जीते भी तो भी हद होती है खुशी होती अधिक होना चाहिए तो 
जीवन में खुश कैसे रहे (How to be happy in life by madanah)
आपकी खुशी का मतलब होगा यही होने का राज हम बता रहे हैं इसलिए सबसे पहले आपको भी तरसे होना होगा जो कुछ है आपके सारे सुख भी आपके सारे दुख दिया आपने इसे ज्यादा दुख को अपना लिया तो आप ज्यादा दुखी हो गए सुख को ज्यादा अपना लोगे तो आप सुखी रहोगे इसलिए आपको संकल्प लेना होगा कि मैं रोज सुखी रहूंगा और मुझे किसी चीज से फर्क नहीं पड़ना चाहिए मुझे सम्मान मुझे किसी गाली मुझे कोई हार कोई दुख ना यह धीरे-धीरे आपको रोज एक-दो दिन तक संकल्प लेना होगा तभी आप इस चीज को महसूस करेंगे धीरे-धीरे आपको एक नियम बनाना होगा कि मुझे कोई हार या कोई गाली या कोई सम्मान या कोई निंदा मेरी करता है तो मुझे दुखी नहीं होना मुझे वही हार से भी उतना ही प्यार करना है जितना मैं जिससे प्यार करता हूं मुझे कोई गाली नहीं उतना प्यार करना है जितना मुझे कोई सम्मान देता है कोई मेरी तारीफ करता है मेरी नींद आ भी उससे नींद आ भी तारीफ करना है नहीं मुझे अच्छा लगना चाहिए तू ही मेरा जीने का मकसद पूरा होगा और क्योंकि ईश्वर ने बहुत चीजें आपको दी है और आपको प्रसन्नता जैसा वरदान दिया है जो आपको सबसे बड़ा वरदान दिया है यह सबसे बड़ा महा वरदान है जिससे आप सबको हंसा सकते हो
                                                              
       जीवन में खुश कैसे रहे (How to be happy in life by madanah)

    
जीवन में खुश कैसे रहे (How to be happy in life by madanah)
जीवन में खुश कैसे रहे (How to be happy in life by madanah)खुश रहना आपका हक है और यह सबसे बड़ा हक है इसलिए कुछ रहने के लिए आपको किसी की जरूरत नहीं होती है किसी भारी चीज की जरूरत नहीं होती है सबसे पहले आपका खुश रहना ही आपके जीवन से प्यार बताता है आप खुश नहीं है तो इसका मतलब है कि आपको जीवन से प्यार नहीं है आज जीवन से दुखी नहीं है क्योंकि खुशी प्राण ही ही उसका जीवन का महत्व पता चलता है उसके प्रश्न का से ही उसके जीवन का महत्व पता चलता है वह वह चाहे अध्यात्मिक हो या हो बड़ा भाग्यवान प्राणी हो वह खुश नहीं है इसका मतलब कि वह जीवन से प्यार नहीं है वह चाहे अध्यात्मिक हो चाहे महारानी है उसके खुश रहना ही सबसे बड़ा उसका गुण मालूम पड़ता है यही सबसे बड़ा उसका हक है
           c जीवन में खुश कैसे रहे (How to be happy in life by madanah)आपको इससे कोई फर्क नहीं पड़ना चाहिए कि हम अमीर है या गरीब हम छोटे हैं या बड़े बड़े कारोबारी हैं या बड़े बिजनेसमैन क्योंकि हमारा मेन मकसद खुश रहना है हम बच्चे थे तब हम खुश थे क्योंकि हम प्राकृतिक थे उस समय हमें कोई भारी चीज इतना फर्क नहीं था क्योंकि हमारा स्वभाव ही था खुश रहना लेकिन अब क्यों हम खुश नहीं है इसके पीछे सबसे बड़ा कारण है कि हमारी मांग और हमारी इच्छाओं ने हमारी खुशियों को कम किया है हमारा मेन शोभा खुश रहना चाहिए क्योंकि हमारी इच्छाएं सबसे बड़ी खुश रहने के लिए ही होती है कि खुशी के लिए ही हम सब कुछ करते हैं हर इच्छा के पीछे हमारा खुश रहने का कारण है इसलिए आप खुश रहे आपका यह स्वभाव ही खुश है इसलिए आप खुद पर यकीन करें कि हम बच्चे थे जब हम खुद क्यों थे क्या कारण था और अब क्यों नहीं है अब क्या हमारे को ज्यादा चिंता हो गई है यह आप को समझना होगा
    जीवन में खुश कैसे रहे (How to be happy in life by madanah)आपने विचार किया होगा कि सूरज चांद वायु हवा पेड़ पौधे सब अच्छी तरह से खेल रहे हैं निकल रहे उनका प्राकृतिक स्वभाव अच्छी तरह से हमें दिख रहा है वह हमें कहीं भी अशांति नहीं दिख रही सब जगह शांति और सहज प्राकृतिक दिख रहा है लेकिन हम यह सोच लेते कि हमारा दिन आज अच्छा नहीं है आज कुछ अच्छा नहीं होगा आज कुछ अच्छा होगा या नहीं होगा यह हमारी नकारात्मकता है आप एक बार प्रकृति पर गौर करिए फिर अपने दिमाग से सोचिए आप सब को अच्छा लगेगा प्रकृति ईश्वर की रचना है इसलिए ईश्वर की बनाई हुई सृष्टि काफी अलौकिक है और यहां हमारा खुश रहना सबसे अलौकिक है इसे सहज बनाए रखें और असद का ईश्वर का वरदान है इसलिए आप खुश रहे बस
जीवन में खुश कैसे रहे (How to be happy in life by madanah) हम आपको बता रहे हैं कि आपका जो मन है जिसकी वजह से आप दुखी है आप दुखी नहीं है क्योंकि आप समाज आप और बाहरी परिस्थितियां और बाहरी लोगों से दुखी हो उनके विचारों से उनके उनकी प्रतिक्रियाओं से दुखी हो क्योंकि वह आप नहीं हो जो मन है वह आप नहीं हो मन दूषित पूरा दान है जो आपको लोगों की प्रतिक्रिया समाज की मानसिक दशा है इसलिए आप मन नहीं है आप तो और पूछें आप भीतर हमारे अंदर और पूछें आप ध्यान रखें कि हम खुश रहना है और खुशी ही हमारा सिद्धांत है क्योंकि हम मन और विचार के प्रयोग से हमारे को भीतर हमने कुछ अलग पैदा किया है इस कारण यह भारी परिस्थितियां बिगाड़ देती है जीवन का विकास इसलिए आप ऐसा ना करें इसलिए आप भीतर प्रसन्न रहें क्योंकि यह जो कुछ भी है यह सब भारी परिस्थितियां भीतर और कुछ है भीतर की प्रतिक्रिया
tags-जीवन में खुश कैसे रहे (How to be happy in life by madanah)  #MADANAH #MADANAH.COM @MADANAH @madanah

Comments

Popular posts from this blog

Tula Rashifal 2020 Vivah Yog Libra Horosocpe 2020 Vivah Yog Madanah

Kark Rashifal 2020 Vivah Yog Cancer Horosocpe 2020 Vivah Yog 2020 Kark Rashifal Vivah Yog 2020

j naam wale log kaise hote hai,ज नाम वाले लोग कैसे होते है,j naam ki rashi kya hai,j naam wale logo ka bhavishya,j naam wale logo ka swbhaw