मन की प्रसन्नता से तुम अपने तमाम मानसिक रोग दूर कर सकते हो With the pleasure of mind, you can overcome all your mental diseases.


  • मन की प्रसन्नता से तुम अपने तमाम मानसिक  रोग दूर कर सकते हो  With the pleasure of mind, you can overcome all your mental diseases.मन की प्रसन्नता से तुम अपने तमाम मानसिक  रोग दूर कर सकते हो मुस्कान मन, मस्तिष्क, शरीर  को ऊर्जावान बनाती है
    मन की प्रसन्नता से तुम अपने तमाम मानसिक  रोग दूर कर सकते हो  With the pleasure of mind, you can overcome all your mental diseases.मन की प्रसन्नता से तुम अपने तमाम मानसिक  रोग दूर कर सकते हो मुस्कान मन, मस्तिष्क, शरीर  को ऊर्जावान बनाती है, यह शरीर को स्वस्थ भी बनाती हैं. व्यक्ति की मुस्कान उसकी सफ़लता मे प्राप्त करने में मदत करती हैं प्रसन्नता के बहुत सारे फायदे हैं  मन की मुस्कान ही व्यवहार में उदारता बन जाती हैं  प्रसन्नता आपका अद्भुत खज़ाना है. छोटी-छोटी बातों पर उसे लुटने मत दीजिये, प्रसन्नता से स्वास्थ्य मिलेगा और चिंता से रोग With the happiness of the mind, you can overcome all your mental diseases, smile makes the mind, brain, body energetic, it also makes the body healthy. A person's smile helps to achieve his success. There are many benefits of happiness. A smile of the mind itself becomes a generosity in behavior.      Happiness is your wonderful treasure. Do not let it linger on trivial matters, you will get health with happiness and disease from anxiety   मन की प्रसन्नता से तुम अपने तमाम मानसिक  रोग दूर कर सकते हो  With the pleasure of mind, you can overcome all your mental diseases.   मुस्कान लुटाइए, उसका खजाना बढ़ता चला जाएगा.  मुस्कान  आत्मा को शक्ति प्रदान करती हैं  मुस्कान हृदय का व्यक्ति अपने चेहरे को फूल समान खिलाए रखता है प्रसन्न रहना हमारा फर्ज है. यदि हम प्रसन्न रहेंगे तो अज्ञात रूप से सभी की बहुत भलाई करेंगे  सबको प्रसन्न करने की शक्ति सबमें नहीं होती.  1-तब ही खुशहाल माना जायेगा जब आप मुस्कुराना सीख सको.  2-आप किसी के आँखों में खुशियाँ देखो तो उसके साथ अपनी मुस्कान को बांटो.   3 -मुस्कराना मुश्किल लगे तब आप हर किसी से मुस्कराते हुए मिले  4-मुस्कान मुसीबत से निकलने का सबसे अच्छा तरीका है, चाहे वह मुस्कान दिखावटी ही क्यों न हो  5- जब आप अकेले होते हो तब आप अगर  हो तो तब आप वास्तव में मुस्करा रहे होते है.  6 -यदि मुस्कान स्वभाव में बस गई है तो रोग कभी पास नहीं आएगा.  7 -दूसरों को प्रसन्न रखने की कला प्रसन्न होने में हैं.  8-प्रसन्नचित्त व्यक्ति में अलोकिक शक्ति अधिक होती हैं  9-मनोवैज्ञानिक दृष्टि से खुलकर हंसना,  और प्रसन्न रहना दवा के समान हैं.   10-जो बड़ो की सेवा नहीं करते, वेजीवन में सुखी नहीं रहते
    मन की प्रसन्नता से तुम अपने तमाम मानसिक  रोग दूर कर सकते हो  With the pleasure of mind, you can overcome all your mental diseases.
    , यह शरीर को स्वस्थ भी बनाती हैं. व्यक्ति की मुस्कान उसकी सफ़लता मे प्राप्त करने में मदत करती हैं प्रसन्नता के बहुत सारे फायदे हैं  मन की मुस्कान ही व्यवहार में उदारता बन जाती हैं

  1. प्रसन्नता आपका अद्भुत खज़ाना है. छोटी-छोटी बातों पर उसे लुटने मत दीजिये, प्रसन्नता से स्वास्थ्य मिलेगा और चिंता से रोग With the happiness of the mind, you can overcome all your mental diseases, smile makes the mind, brain, body energetic, it also makes the body healthy. A person's smile helps to achieve his success. There are many benefits of happiness. A smile of the mind itself becomes a generosity in behavior.


  • Happiness is your wonderful treasure. Do not let it linger on trivial matters, you will get health with happiness and disease from anxiety

मन की प्रसन्नता से तुम अपने तमाम मानसिक  रोग दूर कर सकते हो  With the pleasure of mind, you can overcome all your mental diseases.

मुस्कान लुटाइए, उसका खजाना बढ़ता चला जाएगा.  मुस्कान  आत्मा को शक्ति प्रदान करती हैं
मुस्कान हृदय का व्यक्ति अपने चेहरे को फूल समान खिलाए रखता है प्रसन्न रहना हमारा फर्ज है. यदि हम प्रसन्न रहेंगे तो अज्ञात रूप से सभी की बहुत भलाई करेंगे  सबको प्रसन्न करने की शक्ति सबमें नहीं होती.
1-तब ही खुशहाल माना जायेगा जब आप मुस्कुराना सीख सको.
2-आप किसी के आँखों में खुशियाँ देखो तो उसके साथ अपनी मुस्कान को बांटो.
 3 -मुस्कराना मुश्किल लगे तब आप हर किसी से मुस्कराते हुए मिले
4-मुस्कान मुसीबत से निकलने का सबसे अच्छा तरीका है, चाहे वह मुस्कान दिखावटी ही क्यों न हो
5- जब आप अकेले होते हो तब आप अगर  हो तो तब आप वास्तव में मुस्करा रहे होते है.
6 -यदि मुस्कान स्वभाव में बस गई है तो रोग कभी पास नहीं आएगा.
7 -दूसरों को प्रसन्न रखने की कला प्रसन्न होने में हैं.
8-प्रसन्नचित्त व्यक्ति में अलोकिक शक्ति अधिक होती हैं
9-मनोवैज्ञानिक दृष्टि से खुलकर हंसना,  और प्रसन्न रहना दवा के समान हैं.
10-जो बड़ो की सेवा नहीं करते, वेजीवन में सुखी नहीं रहते

Comments

Popular posts from this blog

Tula Rashifal 2020 Vivah Yog Libra Horosocpe 2020 Vivah Yog Madanah

Kark Rashifal 2020 Vivah Yog Cancer Horosocpe 2020 Vivah Yog 2020 Kark Rashifal Vivah Yog 2020

j naam wale log kaise hote hai,ज नाम वाले लोग कैसे होते है,j naam ki rashi kya hai,j naam wale logo ka bhavishya,j naam wale logo ka swbhaw